शुक्रवार, 23 जुलाई 2010

कार्टून:- तेरा जमाल तौबा तौबा, माना तू छब्बा मैं चौबा


27 टिप्‍पणियां:

  1. बेचारे की नाक का ख्याल कुछ दिन तो रखना ही पड़ेगा ठेकेदार जी को |

    जवाब देंहटाएं
  2. नाक? इन जन्तुओँ में अब भी पायी जाती है?

    जवाब देंहटाएं
  3. हा हा हा अब तो थुक का भी टेंडर निकालना पड़ेगा।

    जय हो

    जवाब देंहटाएं
  4. हा हा! चलो नाक का कुछ तो ख्याल किया.

    जवाब देंहटाएं
  5. तौबा तेरा जलवा
    तौबा तेरा प्यार
    तेरा इमोशनल अत्याचार !

    जवाब देंहटाएं
  6. थूक वाला विचार अद्वितिय है! कमाल का है जी :)

    जवाब देंहटाएं
  7. हाँ भई, अब तो नाक का ही सवाल है !!!! वरना तो सब मालामाल है !!

    जवाब देंहटाएं
  8. ये सूर्पनखा के वंशज कब से नाक की फिक्र में दुबले होने लगे :)

    जवाब देंहटाएं
  9. भला हो खेलों का.. कुछ तो कालिख मिली...

    जवाब देंहटाएं
  10. भला हो खेलों का.. कुछ तो कालिख मिली...

    जवाब देंहटाएं
  11. "हा..हा..खी..खी..हू..हू...और अंत में बू..हू..हू..."

    जवाब देंहटाएं
  12. waah waah waah

    kajal ji kya kahne , jabardasht vyangya likha hai .. badhayi ho .. cartoon ne bahut accha impact daala hai ..

    kajal ji , aap mujhe aapke wo minni aur uske bhari ke comic character bhej dena ..

    mere comics blog par agli peshkash usi ki rakhunga ..

    aabhaar ..

    जवाब देंहटाएं
  13. चिंता काहे , अक्तूबर तक तो चल ही जाएगी ।

    जवाब देंहटाएं
  14. अजी डरे नही आने वाले भी हमारी ही जमात के है

    जवाब देंहटाएं
  15. मेरी यही समझ में नहीं आता कि आपके कार्टून्स की प्रशंसा की जाए या जुमलों की.
    मैं इस ब्लॉग पर इसी डर से नहीं आता कि कहीं मेरा भी हश्र ..... एक तो वैसे ही ऊपर वाले ने माशा अल्लाह सूरत दी है...!

    जवाब देंहटाएं
  16. काजल
    ठेकेदार को नसीहत तो दे रहा है सरकारी इंजिनियर। पर बेचारा ठेकेदार जो दे चुका है उसे वापस तो नहीं कर रहा सरकारी बाबू। कहां से काम करेगा। इसलिए तय जान लो कहीं न कहीं तो कटेगी ही नाक।

    वैसे बड़े लाजवाब कार्टून बनाते हो यार......

    जवाब देंहटाएं
  17. करोड़ों का वारा-न्यारा करने वाले इंजीनियर की सेहत ठेकेदार से कमतर क्यों दिखाई हुजूर!

    जवाब देंहटाएं

LinkWithin

Blog Widget by LinkWithin