रविवार, 23 सितंबर 2012

कार्टून :- अरे इसके लल्‍ला हुआ, हॉं जी ...


17 टिप्‍पणियां:

  1. मन्ने तो तू यही ललछौंआ लल्ला दे दे !

    जवाब देंहटाएं
  2. गजब !

    लाल रंग का इंडियन लल्ला :)

    रेड इण्डियन से ही शायद इण्डेन का ईजाद हुआ होगा :)

    जवाब देंहटाएं
  3. सरकार की नजर तो थी ही, अब ट्रान्ससेक्सुअल्स की भी पड़ गयी तो घर में खाना बनना मुश्किल हो जायेगा! :-)

    जवाब देंहटाएं
  4. पर यह तो बताओ खाली है कि भरा हुआ।

    जवाब देंहटाएं
  5. क्यों , इस पर रेट लिखा है क्या ! :)

    जवाब देंहटाएं
  6. काजल का टीका लगा,नज़र नहीं लग जाय
    भागवान आ शीघ्र तू ,मन सबका ललचाय
    मन सबका ललचाय ,देख कर इसकी लाली
    आयेगी ना नींद , करत इसकी रखवाली
    बिना सिलिंडर रंग , रसोई- घर का फीका
    नज़र नहीं लग जाय,लगा काजल का टीका ||

    जवाब देंहटाएं
  7. सिलेंडर को लल्ला? मुल्ला नसीरुद्दीन की याद आ गयी :)

    जवाब देंहटाएं
  8. भाई साहब !उन जुडवा आलेखों को जिनके शरीर आपस में जुड़े हुए थे ,सर्जरी करके अलग कर दिया गया है आइन्दा ध्यान रखा जाएगा "राम राम भाई "पर सियामीज़ ट्विन्स "पैदा न हों .शुक्रिया आपका .ब्लॉग टेम्पलेट भी सुधारा जाएगा .आप सभी दोस्तों मेहरबानों का शुक्रिया . नेहा एवं आदर से वीरू भाई . ब्लॉग जगत में शब्द कृपणता ठीक नहीं मेरे भैया , पर

    जवाब देंहटाएं
  9. अरि आज तो बधाई गाओ ,रंग महल में

    मुतियन चौक पिराओ री माई ,

    रंग महल में ,

    सब्सिडी में सिलिंडर पायो

    रंग महल में .

    बढ़िया व्यंग्य विनोद .

    जवाब देंहटाएं
  10. बारीक़ पर खुबसूरत सोच संग जागती ज़िन्दगी

    जवाब देंहटाएं
  11. कहीं नज़र न लग जाये -धार दार व्यंग है

    जवाब देंहटाएं

LinkWithin

Blog Widget by LinkWithin