शुक्रवार, 21 सितंबर 2012

कार्टून :- देखो, मैं कहां से कहां पहुँच गया ...


18 टिप्‍पणियां:

  1. लों जी......... शादी पक्की बच्चे की ...........

    जवाब देंहटाएं
  2. बेचारा पहले वाला, अब क्या बोले :)

    जवाब देंहटाएं
  3. कोई नै बात नहीं सब ऐसा ही करते हैं और आने वाले समय में ऐसा ही मिलाता जुलता होगा बस बदले होंगे चेहरे.

    जवाब देंहटाएं
  4. भाग्यशाली निकला ये तो ....

    जवाब देंहटाएं
  5. इस नश्वर जगत में सब्सिडी वाला सिलेंडर ही सबकुछ है, तारणहार है.... :)

    जवाब देंहटाएं
  6. बहुत सुन्दर प्रस्तुति!
    आपकी इस उत्कृष्ट प्रविष्टी की चर्चा कल रविवार (23-09-2012) के चर्चा मंच पर भी की गई है!
    सूचनार्थ!

    जवाब देंहटाएं
  7. riday, September 21, 2012
    कार्टून :- देखो, मैं कहां से कहां पहुँच गया ...

    हमारे पास फ्रिज है कूलर है टी वी है ,

    तुम्हारे पास क्या है ,?

    हमारे पास- सिर्फ बीवी है ,

    बीवी तो हमारे पास भी है ,एक नहीं कई कई हैं ,

    यदि आप अपनी से परेशान है ,तो उसे भी इधर दे दीजिए ,

    बदले में एक सब्सिडी सिलिंडर ले लीजिए .

    काजल जी बधाई !उत्कृष्ट चित्र व्यंग्य प्रस्तुत किया है आपने .

    जवाब देंहटाएं

LinkWithin

Blog Widget by LinkWithin