बुधवार, 7 अगस्त 2013

कार्टून :- पत्रकारि‍ता अवार्ड प्रवष्‍टि‍यां आमंत्रि‍त (6/6)


11 टिप्‍पणियां:

  1. अब अवार्ड्स अपना महत्व खो रहे हैं :(

    जवाब देंहटाएं
  2. "पिछले कई सालों से कार्टून बना रहा हूँ. 'लोटपोट' हिन्दी बाल साप्ताहिक के लिए ढाई दशक तक 'चिंप्पू' और 'मिन्नी' भी बनाये... एक अनुरोध... कार्टून आख़िर कार्टून है, आप भी किसी कार्टून को, गंभीरता से न लें, (संपादकों की ही तरह)."
    Ha-ha-ha......

    जवाब देंहटाएं
  3. एक सदस्य की कमेटी !
    अवार्ड तो तय होंगे..प्रविष्टियाँ आमन्त्रण औपचारिक लगता है.

    जवाब देंहटाएं

LinkWithin

Blog Widget by LinkWithin