शनिवार, 31 अगस्त 2013

कार्टून :- ख़तरे का खि‍लाड़ी नं0-1


16 टिप्‍पणियां:

  1. इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.

    जवाब देंहटाएं
  2. यह तो कुछ नहीं है .
    साईन बोर्ड्स पर अक्सर वर्तनी की क्या ,व्याकरण की त्रुटियाँ देखने को मिलती हैं.
    -------
    वास्तव में ख को बहुत समय पहले[ जब' अ ,श ,झ, छ 'आदि को पुराने रूप में लिखा जाता था] ऐसे ही लिखा जाता था कि वह 'र व 'दिखता था ,
    बोर्ड पर लिखने वाला उसी समय का पढ़ा हुआ होगा !

    जवाब देंहटाएं
  3. आपकी इस प्रविष्टी की चर्चा कल रविवार (01-09-2013) के चर्चा मंच 1355 पर लिंक की गई है कृपया पधारें. सूचनार्थ

    जवाब देंहटाएं
  4. कितना होनहार बन्दा है, आगे चलकर बन्दा कुछ बनेगा जरूर.

    जवाब देंहटाएं
  5. स्कूल में इसी चक्ल्लस में मास्साब से खूब जूते खाये हैं हमने तब कहीं जाकर ज्ञान चक्षु खुले थे.:)

    बेहतरीन यादें दिला दी बचपन की.

    रामराम.

    जवाब देंहटाएं
  6. उत्तर
    1. रवताई राजा हुआ, ऐसा होता अर्थ |
      ऐसा ही कुछ रवतरा, करता यहाँ अनर्थ |
      करता यहाँ अनर्थ, नहीं छू लेना भाई |
      देगा झटका मार, एक राजा की नाईं |
      रविकर का आकलन, रवकना जान गंवाई |
      बिजली होती फेल, किन्तु ना हो रवताई ||

      हटाएं
  7. आपकी उत्कृष्ट प्रस्तुति का लिंक लिंक-लिक्खाड़ पर है ।। त्वरित टिप्पणियों का ब्लॉग ॥

    जवाब देंहटाएं
  8. ग़नीमत है कि पूछा नहीं (जाहिर है, अंग्रेज़ी में -) - यार! ये क्या लिखा है? और अंग्रेज़ी में इसका क्या अर्थ है?

    जवाब देंहटाएं
  9. और भर्ती करो अपने साहब जादे-जादियों को अंग्रेज़ी मीडियम के स्कूलों में!

    जवाब देंहटाएं
  10. अक्षर सही पहचाने यही गनीमत है ,हिन्दी का अक्षर ज्ञान तो है न !

    जवाब देंहटाएं

LinkWithin

Blog Widget by LinkWithin