शुक्रवार, 15 मई 2009

कार्टून:- यह है Anonymous ब्लॉगर की फोटो.

25 टिप्‍पणियां:

  1. बताओ, ये है..

    खामखाँ, किस किस पर शक करते रहे.

    इसे तो बचपन से जानते हैं!!

    चलो, फिर सब बातें जाने दो..अपनों से क्या कहें!!

    जवाब देंहटाएं
  2. कितना खूबसूरत है न !
    चलो, जान गये ।

    जवाब देंहटाएं
  3. Anonymous के आखिर में 'E' और लगाना चाहिए....गुमनाम रह कर चूहे ही टिप्पणी करते हैं काजल भाई.

    जवाब देंहटाएं
  4. मिले थे.. तो मुँह दिखाई भी कर आते..:)

    जवाब देंहटाएं
  5. शर्मा के मुंह छुपा रहे हैं या मुंह दिखाने लायक नही हैं।

    जवाब देंहटाएं
  6. विचारों से खुद को इतना स्‍मार्ट समझता है .. तो फिर चेहरा क्‍यूं छुपाकर रखता है ?

    जवाब देंहटाएं
  7. पंगा नई लेने का ? समझे क्या ?

    जवाब देंहटाएं
  8. मुंह दिखाई का क्या लेंगे ये??

    जवाब देंहटाएं
  9. अच्छा यह सच्ची-मुच्ची का आदमी होता है?!

    जवाब देंहटाएं
  10. वैसे यह आ रहा है

    या डर कर जा रहा है

    यह भी पता नहीं

    लग पा रहा है

    इससे दोबारा से
    नुक्‍कड़ पर मिलेंगे।

    जवाब देंहटाएं
  11. डरा तो यह खुद हुआ है काजल जी

    इसीलिए तो मुंह छिपाया हुआ है
    पर इसकी पैंट का ब्रांड देखकर

    या नकाब का मेक देखकर

    पहचानना होगा

    हो सकता है विदेशी हो

    या इसके हाथ विदेशी हों

    विचार तो विदेशी ही हैं

    जवाब देंहटाएं
  12. आप तो एक बार इसकी नकाब उतरवाईये.:)

    रामराम.

    जवाब देंहटाएं
  13. अरे क्या एनोनिमस ब्लॉगर पुरुष है....
    मैं तो समझता था कि कोई स्त्री मेरे ब्लॉग पर एनोनिमस पोस्ट करती है.....

    जवाब देंहटाएं
  14. अरे धर दबोचो...जाता कहाँ है?

    जवाब देंहटाएं
  15. देखो देखो, किसके ब्लॉग की ओर जा रहा है।
    -Zakir Ali ‘Rajnish’
    { Secretary-TSALIIM & SBAI }

    जवाब देंहटाएं
  16. हा हा मस्त ! वैसे हम भी किसी लड़की की ही आस करते थे अब तक तो. ये महिला विरोधी कार्टून कब से बनाने लग गए आप :)

    जवाब देंहटाएं
  17. ऐसे ब्लागर तो सड़कों पर दुपहिया वाहनों पर रोज मिलते हैं।

    जवाब देंहटाएं
  18. ओह, तो ये हैं वह जनाब! मैं तो समझ रहा था कि कोई महिला होगी!

    जवाब देंहटाएं
  19. छोटी सी यह दुनिया, पहचाने रास्ते हैं...........
    कब तक छुपते भाई

    जवाब देंहटाएं
  20. ओह!.तो ये हैं जनाब
    कैसे हैं आप ?
    पहचान बताएँगे
    या
    यूँ ही नकाब में
    मुखडा छिपाएँगे

    जवाब देंहटाएं
  21. rukh se zara naqaab utha do mere huzur..
    jalwa ham uske baad dikha dein mere huzur..
    ha ha ha ha

    जवाब देंहटाएं

LinkWithin

Blog Widget by LinkWithin