मंगलवार, 12 जून 2012

कार्टून :- आप इनमें से कौन से वाले ब्‍लॉगर हैं ?


47 टिप्‍पणियां:

  1. ना काहू से दोस्ती
    न काहू से बैर
    अपन तो यही बाला है जी
    आप जो समझते हो समझा करिये

    जवाब देंहटाएं
  2. हम तो आपके साथ वाले ब्लॉगर हैं। इंद्रनील जी ने तो शिनाख्त भी कर ली। :))

    जवाब देंहटाएं
  3. हम तो हर हाल में खुश होने वाले हैं जी !

    जवाब देंहटाएं
  4. एक-दू ठो महिला बिलागर का फोटुआ भी डालिए ना, तब तो चीन्हेंगे।

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. ई मोटकी को हम चीन्ह लिया। हमरा फोटुआ .

      देख के नीक लगा। पर बात टशन की है। पुरस्कार से मगज हट गया। सारा का सारा फोकसवा बजन घटाने की तरफ होई गवा। अब अत्ता बजन काहे बढाया ?.... न डाइटिंग से जाई , न ब्लॉगिंग से झुराई।

      .

      हटाएं
  5. एक और श्रेणी है खास और आम पुरुस्कारों को बटते खुद के पास रखते एक दूसरे की पीठ खुजाते कही से नाम वापस लेने की होड़ तो कही जितने की होड़ कही समर्थन में होती बहस तो कही उसके खिलाफ होती चर्चा सभी को चुप चाप देखते चले और मजे लेते चले |

    जवाब देंहटाएं
  6. सही शब्द तो पुरस्कृत है और पुरस्कृत होना अच्छी बात है।
    मगर यह तो बताइए कि आप इनमें से कौन से ब्लॉगर हैं?

    जवाब देंहटाएं
  7. त्रुटि‍ की ओर ध्‍यान दि‍लाने के लि‍ए आभार. सुधार कर दि‍या है ☺

    जवाब देंहटाएं
  8. "आलसी पुरूस्कार योजना" के अंतर्गत तीन महीने में ब्लॉग ग्रांट उपलब्ध हो जाएगी , "परिकल्पना पुरुस्कार योजना" में ग्रांट वार्षिक हैं . आप को कौन सी ग्रांट चाहिये , क्या अगले कार्टून का थीम ये हो सकता हैं

    जवाब देंहटाएं
  9. अली सैय्यद Via इमेल

    जिस तरह से आयोजन और उसपे ब्लागरीय बहस को आपने बाहर रह कर देखा / जाना /
    खाका खींचा है बस अपना भी वही हाल है :)

    जवाब देंहटाएं
  10. Himaanshu Via ट्वि‍ट्टर
    @kajalkumar बतरस में! मज़ेदार कार्टून।

    (मित्रों ने बताया है कि‍ मेरा ब्‍लॉग मैलवेयर की सूचना दे रहा है. जी देखता हूं.)

    जवाब देंहटाएं
  11. लग रहा है इस विषय पर हमें भी बकवास करनी ही पड़ेगी.

    जवाब देंहटाएं
  12. तो ये कार्टून..ब्लॉग जगत को समर्पित..:)
    बढ़िया है

    जवाब देंहटाएं
  13. हमारी श्रेणी इसी से समझिए कि आजकल आयोजक लोग फोन ही नहीं उठा रहे हमारा!

    जवाब देंहटाएं
  14. मैं हिंदी ब्लॉगरों में से एक हूँ. इतना काफी है.

    जवाब देंहटाएं
  15. दोनों हाथ ऊपर कर आत्म समर्पण करते हमीं नज़र आ रहें है , बकैत ब्लागरों के आगे |

    जवाब देंहटाएं
  16. भूषण अंकल की बात से सहमत हूँ। :-) बाक़ी तो जो दे उसका भी भला जो ना दे उसका भी भला ....

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. काजल कुमार को ऐसे आडियाज़ न दीजिए, वे इस पर एक ग़रीब ब्लॉगर का कार्टून बना देंगे जिसका शीर्षक होगा- टिप्पणी दे-दे दीपक बाबा :))

      हटाएं
  17. चलिए इस आयोजन ने सोचने पर मजबूर तो किया . :)

    जवाब देंहटाएं
  18. अजी हमें ब्लोगर ही रहने दो कोई नाम न दो ,
    पुरस्कार दे के हमें ,दुश्मनी का जाम न दो ,

    काम को काम ही रहने दो इनाम न दो .

    बहर सूरत अच्छा खोद के लाये हैं सिन्धु घाटी की सभ्यता के अवशेष .
    क्या ये तमाम ब्लोगिये वैटिकन सिटी के वासी हैं जहां उर्वशियों का नामो -निशाँ नहीं है .

    जवाब देंहटाएं
  19. पीला कुर्ता और काले झोले वाले तो अन्‍नाबाबा हैं।

    जवाब देंहटाएं
  20. ब्लॉगर के बस दो प्रकार
    दाता या पाता पुरस्कार?

    जवाब देंहटाएं
  21. 'one of your best cartoons'
    मजा आ गया काजल भाई|

    जवाब देंहटाएं
  22. आप चाहते ही नहीं कि कार्टून श्रेणी में कोई कम्पीटिशन रहे। गलत बात है।

    जवाब देंहटाएं
  23. आपत्ती पर जील की, इक फोटो दी डाल ।

    तैंतिस प्रतिशत कीजिए, करिए नहीं बवाल ।

    करिए नहीं बवाल, बड़ी संख्या है भाई ।

    घोटूं मुँह में राल, नजर रविकर ललचाई ।

    जौ-जौ आगर ब्लॉग, बड़े सब रत्ती-रत्ती ।

    पुरस्कार पा जाय, उन्हें फिर क्या आपत्ती ??

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. स्त्री की फोटू देख जिया रविकर ललचाया,
      या पुरस्कार को भांप राल उसके मुँह आया!

      हटाएं
    2. Dinesh (Ravikar) ji, I am mesmerized by your poetic skills.

      हटाएं
  24. अभी तलक मन भावन फोटू, कार्टून न पाया |
    पुरस्कार की खातिर रविकर, मन नादाँ ललचाया ||

    जवाब देंहटाएं
  25. हमको तो सारे ही हमारे रूप दिख रहे हैं. होसला अफ़्जाई के लिये धन्यवाद.:

    रामराम.)

    जवाब देंहटाएं
  26. ha ha ha ha ha ha इस कार्टून के बाद तो ...हम अपने आप को हर श्रेणी में देख रहे हैं ...आईने के सामने खुद की तस्वीर...वाह जी मज़ा आ गया

    जवाब देंहटाएं
  27. ओह जी
    काजल भाई,तुसी भी कमाल कर दित्ते हो.

    जवाब देंहटाएं
  28. ये क्या है भाई? पुरुस्कार ..? माने?

    जवाब देंहटाएं
  29. ख्याल बहुत सुन्दर है और निभाया भी है आपने उस हेतु बधाई,

    जवाब देंहटाएं

LinkWithin

Blog Widget by LinkWithin