सोमवार, 5 मार्च 2012

कार्टून:- पुस्तक मेले के साइड इफ़ेक्ट


15 टिप्‍पणियां:

  1. बहुत सही निशाना लगाया है,
    कार्टून के माध्यम से!

    जवाब देंहटाएं
  2. आईडिया बुरा नहीं अगर हर दिन का अखबार विमोचित करके मेले का लुत्फ़ लिया जा सके :)

    जवाब देंहटाएं
  3. जी हाँ लत कैसी भी हो है बुरी .पुस्तक विमोचन का अपना चस्का है नशा है .

    जवाब देंहटाएं
  4. देवि का दिवा स्वप्न !आधी आबादी जिंदाबाद!

    जवाब देंहटाएं
  5. अब पुस्तक छापने के लिए एक साल इंतजार करना पड़ेगा ।

    जवाब देंहटाएं
  6. यहाँ तो पुस्तक पढ़ने की लत अख़बार पर भारी दिख रही है. बहुत ख़ूब.

    जवाब देंहटाएं

LinkWithin

Blog Widget by LinkWithin