रविवार, 16 सितंबर 2012

कार्टून :- घोटालों का सच


19 टिप्‍पणियां:

  1. बालों , मूंछों और जूतियों में परिपक्वता के रंग साफ़ झलक रहे है !
    ये अब भी काले हैं वे पक कर सफ़ेद हुए :)

    जवाब देंहटाएं
  2. इस्तीफा मतलब नेता कच्चा!

    सटीक व सही

    जवाब देंहटाएं
  3. इस भ्रष्टाचारी का आत्मविश्वास डगमगाया हुआ है। यह प्रश्नकर्ता की तरह घुटा हुआ नहीं है।

    जवाब देंहटाएं
  4. ...ऐसा आदमी टॉइप नेता पार्टी के काम का नहीं है...:-)

    जवाब देंहटाएं
  5. इज्ज़त को इतना प्रिय मत बनाओ...:)नेता हो नेता रहो

    जवाब देंहटाएं
  6. बेहद शानदार व्यंग थैंक्स सर.

    जवाब देंहटाएं
  7. उन नालायकों के बारे में भी कभी बनाइये मज़ेदार कार्टून जो हर बार इन्हें चुनकर भेजते हैं .

    जवाब देंहटाएं
  8. ये लो जी इस तरह स्तीफा देंगे तो देश कैसे चलेगा, देश की सेवा कैसे करेंगे, हद है ऐसो को तो राजनीति में आना ही नहीं चाहिए !

    जवाब देंहटाएं
  9. उसके बाद जरूर उसने यह सलाह भी दी होगी कि अपने सूरदास जी से ही कुछ सीख लिया करो :)

    जवाब देंहटाएं
  10. वाह बहुत खूब!
    बहुत मोटी चमड़ी के हैं ये नेतागण!

    जवाब देंहटाएं
  11. हद है.... स्तीफा देंगे तो देश कैसे चलेगा?

    जवाब देंहटाएं
  12. डूब मरना चाहिए ऐसे नेता को..

    जवाब देंहटाएं
  13. बिल्कुल! थोड़ा फाइटवा करो जी..

    जवाब देंहटाएं

LinkWithin

Blog Widget by LinkWithin