रविवार, 8 जुलाई 2012

कार्टून:-बत्‍ती आई है, आई है, बत्‍ती आई है...


25 टिप्‍पणियां:

  1. शून्य में संभावनाएँ तलाशने पर बना एक बहुत उम्दा कूर्टून है. बधाई काजल जी.

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. शून्य में संभावनाएँ तलाशने पर बना एक बहुत उम्दा कूर्टून है.

      हटाएं
  2. बात सही ही तो कही है !बस दिखाना है पड़ोसियों को कि ऐ.सी लगा है .

    जवाब देंहटाएं
  3. यह समाधान अच्छा है -
    उत्तर प्रदेश के लोग हर आधे घंटे पर खुशियाँ मनाते हैं
    ....बिजली आती रहती हैं न तब तब !

    जवाब देंहटाएं
  4. बत्ती न हो भी तो बिल आता है.....
    भूल गए क्या-मेरा भारत महान.
    :-)

    अनु

    जवाब देंहटाएं
  5. बत्ती आई है --- बड़े दिनों के बाद !

    जवाब देंहटाएं
  6. Yahan to Koi comment nahn dikhaayee de raha mujhe bhi!
    realy surprised!

    जवाब देंहटाएं
  7. dekheeye simple solution..... aap background ka colour change kar den ya comments ke fonts ka.....[jo shayda white hai]]....abhi theek ho jaayega ....Try--->just highlight karen to sare comment neele background mei safed fonts mei dikh rahe hain!
    kahin gayab nahn hue.

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. सही ज़वाब
      लॉक किया जाए

      हटाएं
    2. अल्‍पना जी सही कहा आपने. यह कमाल कलर स्‍कीम का ही था. बदलते ही ठीक से दि‍खने लगे कमेंट्स.

      हटाएं
  8. सुन्दर परन्तु बिजली कटौतियों के बावजूद बिजली बिल कभी कम नहीं होती.

    जवाब देंहटाएं
  9. अब तो ए सी देखके ही बेहोशी आ जाती है ,गर्मी कहाँ लगेगी ??

    जवाब देंहटाएं
  10. अरे ये क्या बात हुई ...बिजली की दिक्कत क्या दिल्ली में भी हैं :)

    जवाब देंहटाएं
  11. बहुत सही कहा है आपने ...

    कल 01/08/2012 को आपकी इस पोस्‍ट को नयी पुरानी हलचल पर लिंक किया जा रहा हैं.

    आपके सुझावों का स्वागत है .धन्यवाद!


    '' तुझको चलना होगा ''

    जवाब देंहटाएं

LinkWithin

Blog Widget by LinkWithin