Saturday, August 28, 2010

कार्टून:- मत जइयो मेरी जान तू जहाज से मत जइयो...

संदर्भ के लिए यहां क्लिक करें

16 comments:

  1. वाह जय जय हो काजल भाई
    हम तो सीढी ले आए ।:):)

    ReplyDelete
  2. Ha,ha,ha! Waise aapke cartoon pe hans rahi hun.jinki taangen tootee unpe nahi:)

    ReplyDelete
  3. बहुत सुंदर जी ललित भाई की सीढी मांग लेगे थोडी देर के लिये...:)

    ReplyDelete
  4. बहुत अच्छा है शायद कुछ समय में कुर्सी सीढ़ी सब साथ लेकर ही यात्रा करनी पड़ेगी अगर आपको घर वालों से प्यार है ज्यादा तो ज्यादा का इन्सुरेंस करवा कर आइये जनाब.

    ReplyDelete
  5. बहुत शिक्षाप्रद है यह कार्टून तो!

    ReplyDelete
  6. वर्ना अंतिम वक्त के लिए गंगाजल की शीशी ज़रूर रखें ,अग्नि संस्कार वे कर ही देंगे !

    ReplyDelete
  7. स्वर्ग की सीढ़ी नहीं चाहिये तो जहाज ती सीढ़ी।

    ReplyDelete
  8. एकदम सटीक.... :-)

    ReplyDelete
  9. अब तो फोल्डेबल सीढियों की दुकान खोल लेनी चाहिए ।

    ReplyDelete
  10. उस एयरवेज की करतूतों से लाभ भी हुआ है - आपको कार्टून के लिए मसाला मिल गया |

    ReplyDelete
  11. अगले बार जरुर साथ रखूंगी क्या पता कब जरुरत महसूस हो !

    बहुत बढ़िया

    ReplyDelete
  12. बहुत अच्छे........
    और हाँ आपके बारे में पढ़ा अच्छा लगा....
    सचमुच कार्टून्स मजाक में लेने की चीज़ नहीं होते
    हकीकत को बयां कराती दो लाइने कहीं भी छपी हों मुझे बेहद प्रभावित करती है........

    ReplyDelete
  13. सीढ़ी के साथ हम तो स्टूल भी ले कर जायेंगे जी, इनका क्या भरोसा है?

    ReplyDelete

LinkWithin

Blog Widget by LinkWithin