सोमवार, 22 जुलाई 2013

कार्टून :- हि‍जड़ों की कारगुजारि‍यां


14 टिप्‍पणियां:

  1. हिंजड़ों के ही लायक बचा है देश!

    जवाब देंहटाएं
  2. नेग देने लायक होते बेचारे तो सरकारी स्कूल में मिड डे मील खाने क्यों भेजते।

    जवाब देंहटाएं
  3. आज के समय में तो कोई भी रोज सही सलामत घर आ जाये तो नेग बनता है |

    जवाब देंहटाएं
  4. सच में सच है भाई ........कमाल है ..ऐसा भी होता है क्या ....हैईईई :)

    जवाब देंहटाएं
  5. मिड डे मील वालों की मेहरवानी से अब तो हिजडों का धंधा चल निकलेगा.

    रामराम.

    जवाब देंहटाएं
  6. ब्लॉग बुलेटिन की आज की बुलेटिन ३ महान विभूतियों के नाम है २३ जुलाई - ब्लॉग बुलेटिन मे आपकी पोस्ट को भी शामिल किया गया है ... सादर आभार !

    जवाब देंहटाएं
  7. सुन्दर प्रस्तुति ....!!
    आपको सूचित करते हुए हर्ष हो रहा है कि आपकी इस प्रविष्टी की चर्चा कल बुधवार (24-07-2013) को में” “चर्चा मंच-अंकः1316” (गौशाला में लीद) पर भी होगी!
    सादर...!
    डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

    जवाब देंहटाएं
  8. जाकू राखे साइयां मार सकें न मिड डे मील

    जवाब देंहटाएं

LinkWithin

Blog Widget by LinkWithin