रविवार, 21 अप्रैल 2013

कार्टून:- मानवाधिकारवादी न्यायव्यवस्था दा जवाब नईं


10 टिप्‍पणियां:

  1. पुराने लोग कहते हैं कि अंग्रेजी व्यवस्था में इतने लम्बे नहीं खिंचते थे मुकदमे, वजह चाहे कुछ भी रही हो.

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. व्यवस्था से जुडा हर कोई व्यवस्था को सुधाराना ही कहां चाहता है उनके लिए यह ''शासक सुखाय शासक हिताय'' जो है.

      हटाएं
  2. आपकी इस प्रविष्टि क़ी चर्चा सोमवार [22.4.2013]के एक गुज़ारिश चर्चामंच1222 पर
    लिंक क़ी गई है,अपनी प्रतिक्रिया देने के लिए पधारे आपका स्वागत है |
    सूचनार्थ..

    जवाब देंहटाएं

LinkWithin

Blog Widget by LinkWithin