रविवार, 2 सितंबर 2012

जुगलबंदी कार्टून:- बचाओ रे! कोई मुझे ब्लॉगर सम्मान से बचाओ!!!


33 टिप्‍पणियां:

  1. ha ha ha ha ha !
    और तेज भागना पड़ेगा , इन सम्मान देने वालों से बचने के लिए .

    जवाब देंहटाएं
  2. वाह! वाह!
    लगता है अपनी जुगलबंदी आगे और जमेगी... :)

    जवाब देंहटाएं
  3. जय हो, वैसे भागने वाले ब्लॉगर के मन में तो लड्डू फूट रहे होंगे।

    जवाब देंहटाएं

  4. माने इन दिनों असम्मानितों की मार्केट वैल्यू बढ़ गयी है :)

    जवाब देंहटाएं
  5. :-)
    ho...ho...ho
    bahut hi dilchasp cartoon
    bhaagne waale blogger ka chehra kahin dekha hua hai :-)

    जवाब देंहटाएं
  6. हम तो रविरतलामी को अभी तक शरीफ़ समझते थे। इन्होंने कार्टूनिस्ट से हाथ मिला लिया। जय हो!

    जवाब देंहटाएं
  7. माने इन दिनों असम्मानितों की मार्केट वैल्यू बढ़ गयी है :)

    जवाब देंहटाएं
  8. माने इन दिनों असम्मानितों की मार्केट वैल्यू बढ़ गयी है :)

    जवाब देंहटाएं
  9. :) बकरे की माँ कब तक खैर मनायेगी, कोई न कोई तीर तो निशाने पर लगेगा ही।

    जवाब देंहटाएं
  10. अरे भाई, बेचारे को चप्पल तो पहन लेने देते!

    अब तक सम्मान से वंचित (असम्मानित?) ब्लौगर की टिपण्णी!

    जवाब देंहटाएं
  11. ओ तेरे की... एक तो रवि ऊपर से काजल मिला...

    धमाका तो होना ही था...

    जवाब देंहटाएं
  12. ही ही :) हिंदी ब्लॉगजगत की यही बात हमें सबसे अधिक भाती है. अंत में सभी मिल जाते हैं हिंदी फिल्मों की तरह हैप्पी एंडिंग :)

    जवाब देंहटाएं
  13. क्या बात है? ब्लागर सम्मेलन पर सब से अच्छी रचना है यह।

    जवाब देंहटाएं
  14. सार्थक प्रस्तुति!

    शादी के बाद कमाने के दबाद में मर्द के तो अरमान ही मर जाते हैं, कुछ के ज़मीर भी मर जाते हों तो कोई ताज्जुब नहीं है। मुर्दा ज़मीर शख्स कुछ थोड़ा बहुत ग़लत कर भी जाए तो दूसरे मर्द को ज़ेबा नहीं कि उसे मलामत करे। मर्द के दर्द को कोई औरत न समझे तो न सही, कम से कम आप तो समझिए न !
    ...और यहां मुर्दा ज़मीर एक ढूंढो तो हज़ार मिलते हैं।

    जवाब देंहटाएं
  15. ...अरे इन नामुरादों को मेरा पता दिया ही किसने था ??

    जवाब देंहटाएं
  16. इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.

    जवाब देंहटाएं
  17. पञ्च परम प्रियतम प्राण प्राध्यापक प्रधान ।
    भोग भोगे भोगवान भाग भाग भगवान ।।

    भोगवान = शेष नाग
    भगवान = भगवान विष्णु

    जवाब देंहटाएं

LinkWithin

Blog Widget by LinkWithin