मंगलवार, 30 जुलाई 2013

कार्टून:- लो, और बना लो तेलंगाना


19 टिप्‍पणियां:

  1. अब आगे -आगे देखिये होता है क्या....

    जवाब देंहटाएं
  2. बहुत सुन्दर प्रस्तुति...!
    आपको सूचित करते हुए हर्ष हो रहा है कि आपकी इस प्रविष्टि की चर्चा आज बुधवार (31-07-2013) के कीचड़ तो तैयार, मगर क्या कमल खिलेंगे-- चर्चा मंच 1323 में मयंक का कोना पर भी है!
    सादर...!
    डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

    जवाब देंहटाएं
  3. हा हा हा
    अभी तो देश के बच्चो का और ज्ञान बढ़ेगा अब पता चलेगा की देश के किस किस हिस्से में कितने राज्यों की मांग है , बच्चो के सामान्य ज्ञान की किताबो में दो चार पन्ना और बढेगा |

    जवाब देंहटाएं
  4. बोहनी क्या? अब तो लाईन लगने वाली है.

    रामराम.

    जवाब देंहटाएं
  5. तेल देखो तेल की धार देखो :-)

    जवाब देंहटाएं
  6. दोहनी करने वाले से ही ना बोहनी की उम्मीद की जायेगी :)

    जवाब देंहटाएं
  7. गाना ढपली पर फ़िदा, सुने नहीं फ़रियाद |

    पड़े मूल्य करना अदा, धिक् धिक् मत-उन्माद |

    धिक् धिक् मत-उन्माद, रवैया तानाशाही |

    चमचे देते दाद, करें दिन रात उगाही |

    राज्य नए मुख्तार, और भी कई बनाना |

    और उठे आवाज, बना जो तेलंगाना ||

    जवाब देंहटाएं
  8. आपकी उत्कृष्ट प्रस्तुति का लिंक लिंक-लिक्खाड़ पर है ।। त्वरित टिप्पणियों का ब्लॉग ॥

    जवाब देंहटाएं
  9. हमारे आज के राजनीतिक विग्रह को रूपायित करता है यह चित्र व्यंग्य जो स्थितियों से सहज स्फूर्त है अनुप्राणित है।

    जवाब देंहटाएं

LinkWithin

Blog Widget by LinkWithin