Sunday, August 5, 2012

मेरी अमरीका यात्रा

DSC_0292
न्‍यूयॉर्क का जे.एफ.के. हवाई अड्डा एकदम साधारण सा है बल्‍कि‍ हमारे रेलवे स्‍टेशनों का सा लगता है. यह बहुत व्‍यस्‍त हवाई अड्डों में से एक है, इसके कई टर्मिनल हैं.
DSC_0295
न्‍यू जर्सी, न्‍यू यॉर्क का बाहरी इलाका है जहां न्‍यू यॉर्क में काम करने वाले अधि‍कतर लोग रहते हैं. यह हडसन नदी का चि‍त्र है जि‍से पार कर न्‍यू जर्सी पहुंचते हैं. इस नदी पर लोग क्रूज़ का भी आनंद उठाते हैं. न्‍यू जर्सी काफी खुला और हरा भरा क्षेत्र है.
DSC_0315
ईस्‍ट रि‍वर पर बना यह ब्रुकलि‍न ब्रि‍ज है. आजकल इसकी मुरम्‍मत चल रही है. बहुत बड़ी संख्‍या में अश्‍वेत आज इस पुल के दूसरी तरफ ब्रुकलि‍न में रहते हैं वरना वे पहले इस तरफ रहते थे उस इलाके को आज भी हार्लेम के नाम से जाना जाता है.
DSC_0317
स्‍टेच्‍यू ऑफ लि‍बर्टी देखने जाने के लि‍ए यहां से ferry मि‍लती हैं.
DSC_0332
यह दृश्‍य है न्‍यूयॉर्क के स्‍टॉक एक्‍सचेंज के सामने का. यहीं पीतल का बैल बना हुआ है जि‍सकी फ़ोटो खींच पाना दूभर है क्‍योंकि‍ पर्यटक उस पर लोटपोट हुए रहते हैं. मैनहट्टन न्‍यूयॉर्क का पॉश इलाक़ा है इसे यहां के अर्थतंत्र की नाड़ी भी माना जाता है. मैनहट्टन में हर ओर गगनचुंबी इमारतें दि‍खाई देती हैं.
DSC_0336 DSC_0459
स्‍टेच्‍यू ऑफ़ लि‍बर्टी का इतनी दूर से लि‍या चि‍त्र आमतौर से लोग नहीं छापते, क्‍लोज़अप छापते हैं. यह मूर्ति फ़्रांस ने अमरीका को 1776 में इसकी स्‍वतंत्रता प्राप्‍ति‍ पर भेंट की थी.
DSC_0353 DSC_0344
9/11 के हमले में ध्‍वस्‍त ट्वि‍न टॉवर व 5 अन्‍य इमारतों की जगह अब ये फ़्रीडम टॉवर बनाई जा रही है. दाएं, पास में ही कुत्‍तों को घुमाने के लि‍ए अलग से पार्क बना है. यहां कुत्‍तों के लि‍ए तरह तरह की व्‍यवस्‍था है. यहां जीवन काफी एकाकी है.  न्‍यूयॉर्क में बहुत से लोग कुत्‍तों के ही सहारे अपना अकेलापन दूर करते हैं.
DSC_0363 DSC_0366
न्‍यूयॉर्क स्‍थ्‍ि‍त संयुक्‍त राष्‍ट्र मुख्‍यालय. व ठीक इसके सामने पुलि‍स बूथ जि‍समें एअरकंडीश्‍नर लगा हुआ है. हमारे यहां ये दि‍न आने में अभी समय लगेगा.
DSC_0368
रॉकफैल्‍लर प्‍लाज़ा कॉम्प्‍लेक्स के आस-पास रि‍क्‍श्‍ो भी चलते हैं. ये मोटराइज्‍ड हैं और लोग यूं ही तफ़रीह के लि‍ए इनमें सैर करते हैं. यहां शाम को लोग घूमने-फि‍रने आते हैं और खूब भीड़ रहती है.
DSC_0385
रॉकफेल्‍लर प्‍लाज़ा कॉम्प्‍लेक्स के बाहर लगे वि‍भि‍न्‍न देशों के ध्‍वजों में भारत का राष्‍ट्रीय ध्‍वज भी देख कर बहुत अच्‍छा लगा.
DSC_0388
न्‍यूयॉर्क का टाइम स्‍क्वेयर. यहां कभी रात नहीं होती. सुबह तक लोग यहां डटे रहते हैं. यहां एक बहुत बड़ा सक्रीन है जो भीड़ की फ़ोटो दि‍खाता रहता है और लोग कैमरे की तरफ हाथ हि‍ला-हि‍ला कर खूब हल्‍ला करते रहते हैं.
DSC_0398
टाइम स्‍क्वेयर के एक सि‍नेमा हॉल में कोई लेडी गागा आई थी जि‍सकी एक झलक पाने को लोग यूं सड़क पर भीड़ लगाए पड़े थे.
DSC_0399
होटल में इस तरह की माचि‍स देखने को मि‍ली. ऐसी माचि‍स मैंने पहली बार देखी. अच्‍छा लगा. अमरीका की एक सबसे अच्‍छी बात ये लगी कि‍ आमतौर से सभी भवनों व सार्वजनि‍क स्‍थानों पर धूम्रपान नि‍षि‍द्ध है चाहे वे रेस्‍टोरेंट हो या फि‍र होटल के नि‍जि‍ कमरे. धूम्रपान के लि‍ए लोग भवनों से बाहर जाते हैं जहां ऐशट्रे लगी रहती हैं.
DSC_0410
न्‍यूयॉर्क में एक बंग्‍लादेशी भी अपनी दुकान लगाए मि‍ला.
DSC_0423
न्‍यूयॉर्क में एकल परि‍वारों के इस प्रकार के मकान होते थे. ये 100-150 साल तक पुराने हैं. लंबे समय से इन्‍हें तोड़ कर बड़े बड़े गगनचुंबी भवन बनाए जा रहे हैं. यहां के पुराने मकानों में पीछे की ओर, अग्‍नि‍-बचाव के लि‍ए लोहे की सीढ़ि‍यां दि‍खती हैं.
DSC_0425
भीड़ भाड़ वाले इस शहर में गंदगी नहीं मि‍लती. सड़कों के हर नुक्‍कड़ पर कूड़ेदान रखे रहते हैं जो हर रोज़ खाली भी कि‍ए जाते हैं. हमें सीखना चाहि‍ए. यहां के कबूतर भारतीय कबूतरों से ही दि‍खते हैं, पर उन्‍हें यहां की तरह सामूहि‍क दाना डालने का रि‍वाज़ नहीं है.
DSC_0438
यहां की टूरि‍स्‍ट बसों में शौचालय भी बना रहता है.
DSC_0441
यहां के समाचार पत्रों की चौड़ाई कम होती है, जि‍ससे इन्‍हें खोलने में सुवि‍धा रहती है. ये अख़वार छ: कॉलम के होते हैं. हालांकि‍ यहां के टी.वी. चैनलों का हाल भी भारत से बेहतर नहीं है, वे भी एक ही स्‍टोरी को कई-कई दि‍न तक गाते रहते हैं.
DSC_0452
लगभग डेए़-पौने दो सौ साल पुरानी यह इमारत एक ति‍राहे पर है. शुरू-शुरू में लोग डरते थे कि‍ हवा के झोकों से यह इमारत ढह जाएगी, इसलि‍ए आंघी-तूफ़ान के समय लोग इससे दूर रहते थे.
DSC_0814
न्‍यूयॉर्क की चकाचौंध से दूर, इसका ये दूसरा पहलू हैं. इन इलाक़ों में आम लोग रहते हैं. यहां के मकानों में बालकनी का रि‍वाज़ नहीं है.
DSC_0477
नार्थ कैरोलीना राज्‍य की राजधानी 'राली'  Raleigh, वाशिंगटन डी.सी. से 4-5 घंटे की सड़क-दूरी पर है. इसका हवाईअड्डा कि‍सी समुद्री जहाज़ के डि‍ज़ाइन का आभास देता है. यह बहुत सुंदर है. तूफ़ान के कारण हमारी फ़्लाइट न्‍यूयॉर्क से 8 घंटे की देरी से यहां पहुंची. इस क्षेत्र में इस प्रकार के बवंडर आए दि‍न आते ही रहते हैं.
DSC_0479
राली एक शांत, हरि‍याली भरा और खुला छोटा सा सुंदर शहर है. यहां के इस होटल सूट में पूरी रसोई भी थी. शाकाहारि‍यों के लि‍ए यह एक वरदान सा लगता है क्‍यों कि‍ रेस्‍टोरेंटों में वेज पि‍ज्‍जा लंच और डि‍नर में रोज़-रोज़ नहीं ही खाया जा सकता. राली के आड़ू सबसे उम्‍दा माने जाते हैं. यहां जुलाई में 'पीच डे' भी मनाया गया.
DSC_0515 DSC_0520
होटल में, 'डू नॉट डि‍स्‍टर्ब'  का अलग अवतार. और दाएं, बि‍जली का प्‍लग जि‍समें न्‍यूट्रल पि‍न नीचे की ओर है. यहां हर काम दुनि‍या से अलग करने की ज़ि‍द दि‍खाई देती है.
DSC_0482 DSC_0528
बगल के शहर डरहम के ड्यूक वि‍श्‍ववि‍द्यालय का 'ड्यूक सेंटर फ़ॉर इंटरनेशनल डेवलपमेंट'. दाएं, नोटि‍स वोर्ड पर लगी सूचना, जि‍से नोट करने की ज़रूरत नहीं, बस नीचे बनी कांटेक्‍ट फ़ोन नंबर वाली पर्ची फाड़ कर साथ ले जाएइ.
DSC_0500
एक रोस्टोरेंट में खाने का ऑर्डर देने के बाद यह पेजर दि‍या गया. जब आपका ऑर्डर डि‍लीवरी के लि‍ए तैयार हो जाता है तो यह कंपन करने लगता है. आप जाकर काउंटर से आपना खाना ले सकते हैं. यहां कैचअप की बोतलें उल्‍टी रखने का रि‍वाज़ है इसीलि‍ए इनके ढक्‍कन चौडे होते हैं.
DSC_0510 DSC_0536
राली में इस तरह की हरि‍याली चारों ओर है. यहां पैदल चलने वालों के लि‍ए हर जगह फुटपाथ मि‍लेंगे. सड़क पार करने के लि‍ए ज़ेब्रा क्रॉसिंग पर पैदल चलने वाले के लि‍ए गाड़ि‍यां रूक जाती हैं. हाइवे के कि‍नारे पैदल चलने की रास्‍ता नहीं होता है, वाहनों की तेज़ गति‍ के कारण वहां पैदल चला मना होता है.
DSC_0587
बि‍जली के खंभे को साधने वाली तारें भी प्‍लास्‍टि‍क से ढकी गई हैं.
DSC_0548
साउथ कैरोलीना के 'मर्टल बीच'  Myrtle Beach पर पहुंचने से पहले लगा कई कि‍लोमीटर लंबा जाम. सप्‍ताहांत में बहुत से लोग इस बीच पर इसी तरह पहुंचते हैं. रेंगने वाले ट्रैफ़ि‍क का यह जाम लगभग डेढ़ घंटे का था पर न कि‍सी ने लेन तोड़ी न कि‍सी ने हॉर्न बजाया. मेरे अलावा सभी सब्र से चलते रहे.
DSC_0552 DSC_0578
'मर्टल बीच'  पर यह रि‍प्‍ली संग्राहलय है. दाएं, खुली सड़क पर पुलि‍स वाला भी स्‍कूटर पर चहल कदमी कर रहा है.
DSC_0580
बीच कि‍नारे लकड़ी के फट्टों का प्‍लेटफ़ार्म बनाया गया है.
DSC_0597
राली में गाड़ि‍यों के आगे नंबर प्‍लेट लगाने का कोई टंटा नहीं है. यहां छोटी गाड़ि‍यां रखने का रि‍वाज़ नहीं है, यहां शायद ही कोई कार 1600-1800 सी.सी. से नीचे की मि‍ले.
DSC_0616
राजधानी वाशिंगटन डी.सी. की मेट्रो रेल. वाशिंगटन, न्‍यू यॉर्क की अपेक्षा बहुत छोटा है, यहां की जनसंख्‍या भी कहीं कम है. यहां की मेट्रो में बहुत भीड़ नहीं होती आप आराम से यात्रा कर सकते हैं. एक बार तो इसे बंद कर देने की मुहि‍म भी चली थी पर अंतत: इसे बंद न करने का निर्णय लि‍या गया.
DSC_0624
अमरीका का वाशिंगटन स्‍थि‍त सेना मुख्‍यालय 'पेंटागन'.
DSC_0635 Clipboard01 
वाशिंगटन संग्रहालयों का शहर भी है. यहां 17 स्‍मि‍थसोनि‍यन संग्रहालय हैं. ये सभी मुफ़्त हैं. वर्ना अमरीका में कुछ भी मुफ़्त नहीं मि‍लता, चाहे वह होटल में पीने का पानी ही क्‍यों न हो. (वैसे आप नल का पानी कहीं भी पी  सकते हैं, यह बोतल के पानी से बेहतर होता है.)  ये संग्रहालय साल में केवल एक बार, क्रि‍समस के दि‍न बंद होते हैं. 18वां स्‍मि‍थसोनि‍यन संग्रहालय बन रहा है. यह अफ़्रीकी-अमरीकि‍यों को समर्पित होगा. 17वां स्‍मि‍थसोनि‍यन संग्रहालय अमरीका के मूल-नि‍वासी रेड-इंडि‍यन्‍स को समर्पित कि‍या गया है (ऊपर दाएं). इसके उद्घाटन के समय, दूर-दूर से ये मूल नि‍वासी एक भव्‍य व वि‍शाल परेड के रूप में सम्‍मि‍लि‍त हुए थे. स्‍मि‍थसोनि‍यन संग्रहालय एक ब्रि‍टि‍श धनाड्य जेम्‍स स्‍मि‍थसन के दान की बदौलत हैं.
DSC_0637
वाशिंगटन घूमते पर्यटक.
DSC_0653 DSC_0661
वाशिंगटन के स्‍पेस म्‍यूज़ि्यम में रखा चंद्रयान 'अपोला-11'. दाएं, हवा के गुब्‍बारों से यात्रा के दौरान प्रयुक्‍त होने वाले साज़ो सामान में एक स्‍टोव भी होता था. यह स्‍टोव भारत में आज भी प्रयोग होता है.
DSC_0786
वाशिंगटन के मोम के पुतलों वाले प्रसि‍द्ध 'टुसॉड संग्रहालय' में हि‍न्‍दी लि‍खी देख कर बहुत अच्‍छा लगा.
DSC_0668
वहां का संसद भवन 'कैपि‍टल हि‍ल'
DSC_0696
राष्‍ट्रपति‍ नि‍वास 'व्‍हाइट हाउस' के सामने, सड़क के दूसरी ओर डेरा डाले एक प्रदर्शनकारी परि‍वार.
DSC_0706
वाशिंगटन का मेट्रो स्‍टेशन 'यूनि‍यन स्‍टेशन'. यह दि‍ल्‍ली के राजीव चौक की तरह है. यहां, पहली बेसमेंट में भारतीय खाने का एक झटपट रेस्‍टोरेंट 'अदि‍ति‍ इंडि‍यन कि‍चन' है जि‍से एक पंजाबी सज्‍जन चलाते हैं. वहां के स्‍थानीय लोगों को भारतीय खाने का अच्‍छा चस्‍का है, यहां जाकर यही दि‍खाई दि‍या.
DSC_0718
अमरीका के एक और राज्‍य मेरीलैंड की राजधानी 'अनॉप्लि‍स'  Annapolis. इसे आज भी पहले की ही तरह सहेज कर रखा गया है. ईंटों की सड़क और पुराने ज़माने की ट्रॉम बस देखि‍ए, इसे ट्रॉली कहते हैं. यह एकदम शांत और छोटा सा  सुंदर सपनों का शहर है. सड़क के अंत में, बस के पीछे की तरफ खुला समुद्र है.
DSC_0737
यह मेरीलैंड की वि‍धानसभा का अंदरूनी भाग है. लाल रस्‍से से घि‍रा वह ऐति‍हासि‍क स्‍थान है जहां गृह युद्ध की समाप्‍ति‍ के बाद जॉर्ज वाशिंगटन ने सेना की कमान लोकतांत्रि‍क प्रशासन को सौंपी थी.
DSC_0740 DSC_0748
बाएं, स्‍वभुगतान करें व समाचार पत्र ले जाएं. दाएं. अनॉप्‍लि‍स में नौसेना अकादमी के सामने फैला समुद्र.
                                   000000                                 -काजल कुमार

LinkWithin

Blog Widget by LinkWithin