शुक्रवार, 16 मार्च 2012

कार्टून:- यू.पी. में खूंटा-बदल के दिन आए रे

16 टिप्‍पणियां:

  1. दिल्ली की झुग्गियों और माया के कम आय वर्ग के मकानों की तरह !

    जवाब देंहटाएं
  2. खूब जमेगी जब सभी दीवाने मिल जायेंगे...

    जवाब देंहटाएं
  3. मूंछों और सेहत के हिसाब से तो मंतरी जी लखना डकैत लग ही रहे हैं :)

    जवाब देंहटाएं
  4. बहुत अच्छी कार्टून प्रस्तुति!
    इस कार्टून की चर्चा कल शनिवार के चर्चा मंच पर भी होगी!
    सूचनार्थ!

    जवाब देंहटाएं
  5. बढ़िया व्यंग्य .अक्टूबर में मध्यावधि चुनाव देखेंगे काजल कुमार .

    जवाब देंहटाएं
  6. देखो कैसे चल रही दिल्ली की सरकार ,

    घुटने टूटे घायल चेहरा ,मरने की दरकार .

    टूटे घुटने जख्मी चेहरा ,गिरने को तैयार ,

    देखें सांसद खूब तमाशा ;

    ये भारत सरकार .,अरे भाई इसकी जय जैकार ,करो भाई इसकी जैजैकार .

    बोलो भाई इसकी जय जय कार .

    जवाब देंहटाएं
  7. कार्टूनिस्ट की पैनी नज़र ....

    जवाब देंहटाएं
  8. सही बात है , घर का माल घर में ही रह जायेगा . जनता भी खुश मंत्री जी भी खुश , सायद इसी को कहते हैं की
    सांप भी मर जाये और लाठी भी न टूटे .बहुत खूब

    जवाब देंहटाएं

LinkWithin

Blog Widget by LinkWithin