मंगलवार, 20 जुलाई 2010

कार्टून:- पानी रे पानी तेरा रंग कैसा ! न हया न शर्म जैसा ?



17 टिप्‍पणियां:

  1. बहुत बढ़िया!
    हमारे यहाँ तो बारिश
    रुकने का नाम ही नही ले रही है!

    जवाब देंहटाएं
  2. पानी और कम होने पर यह भी होने लगेगा ।

    जवाब देंहटाएं
  3. जय हो... मच्छी वाला पानी..

    पता चला बाद में किस्म भी बताने लगे,,

    जवाब देंहटाएं
  4. सुझाव पर जल विभाग की बांछें खिल गईं कहीं कोई और खिचड़ी तो नहीं पक रही दिमाग में :)

    जवाब देंहटाएं
  5. संतोष तो है नहीं, फिर कहोगे झिंगा डलवा दो... :)

    जवाब देंहटाएं
  6. बहुत ही सार्थक व्यंग और सरकारी व्यवस्था द्वारा पानी बेचने वालों को फायदा पहुँचाने के लिए पानी की कमी पैदा करने तथा सार्वजनिक पानी व्यवस्था को दूषित करने के प्रयास को करार तमाचा ...

    जवाब देंहटाएं

LinkWithin

Blog Widget by LinkWithin